X Close
X

राहुल, माया और अखिलेश समेत 3 हजार लोगों को RSS ने भेजा न्योता, भविष्य के भारत पर होगी चर्चा


bhagwat-and-rahul-696x463
Ajmer:नई दिल्ली: आरएसएस ने अपने तीन दिवसीय कार्यक्रम के लिए देश भर की करीब 3,000 हस्तियों को आमंत्रित किया है। इन लोगों में तमाम राजनीतिक विचारधाराओं, सामाजिक और धार्मिक समूहों, अल्पसंख्यक नेताओं समेत रिटायर्ड नौकरशाह भी शामिल होंगे। 17 से 19 सितंबर को आयोजित कार्यक्रम में आरएसएस चीफ मोहन भागवत इन सभी लोगों से संवाद करेंगे। यह कार्यक्रम दिल्ली के विज्ञान भवन में 17 से 19 सितंबर के बीच होने वाला है, जो भविष्य का ‘भारत: संघ की दृष्टि’ के विषय पर होगा। कार्यक्रम में आरएसएस के प्रमुख मोहन भागवत सभी लोगों से रूबरू होंगे। खबरों के मुताबिक, क्षेत्रीय दलों के नेताओं समेत सभी राजनीतिक दलों के लोगों को कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है। इसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खडग़े,यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, बसपा प्रमुख मायावती, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और चंद्रबाबू नायडू समेत कई दिग्गज नेता शामिल हैं। संघ का मानना है कि तीन दिन के इस कार्यक्रम में हर दिन लगभग 1000 लोग शामिल होंगे। संघ के मुताबिक, इस कार्यक्रम का आयोजन लोगों को आरएसएस की विचारधारा से रूबरू करवाने के लिए किया जा रहा है। इसमें अलग-अलग धर्मों के लोगों को इसलिए शामिल किया गया है ताकि संघ को लेकर बने तमाम मिथकों को तोड़ा जा सके। बता दें कि आरएसएस के कार्यक्रम में राहुल गांधी के न्योते पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा था कि राहुल गांधी या पार्टी के किसी अन्य नेता के आरएसएस कार्यक्रम में भाग लेने का कोई सवाल ही नहीं उठता है। आरएसएस की अगले महीने व्याख्यान श्रृंखला में कांग्रेस अध्यक्ष को कथित तौर पर आमंत्रित करने की योजना के बारे में पूछे जाने पर खड़गे ने कहा, पहले पत्र (निमंत्रण) आने दें। यह (निमंत्रण) चुनावों को देखते हुए है। 2019 के चुनावों से पहले पार्टी की महाराष्ट्र और मुंबई इकाई के कार्यकर्ताओं से मिलने के बाद खड़गे संवाददाताओं से बात कर रहे थे।