X Close
X

तो क्या जीत की मन्नत पूरी होने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी केरल के कृष्ण मंदिर में अपने वजन के बराबर कमल के पुष्पों से तुले?


Ajmer:

तो क्या जीत की मन्नत पूरी होने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी केरल के कृष्ण मंदिर में अपने वजन के बराबर कमल के पुष्पों से तुले? मंदिर में सिर्फ हिन्दुओं का ही प्रवेश।

===============

जून को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी केरल के गुरुवापुर कृष्ण मंदिर में अपने 112 किलो के बराबर कमल के पुष्पों से तुले और फिर मंदिर में सनातन संस्कृति के अनुरूप पूजा अर्चना की। कमल के पुष्पों से तुलने के लिए प्रधानमंत्री को तराजू के दूसरे पलड़े में बैठना पड़ा। कहा जाता है कि जिस भक्त की मनोकामना (मन्नत) पूर्ण होती है, वह अपने वजन के कमल के पुष्प अर्पित करता है। चूंकि मोदी को लोकसभा चुनाव में अपार सफलता मिली है, इसलिए माना जा रहा है कि मोदी ने मंदिर की परंपरा को पूरा किया है। 112 किलो पुष्पों का भुगतान मोदी ने अपने बैंक अकाउंट से हाथों हाथ कर दिया। मोदी 39 हजार 421 रुपए का डिजिटल पेमेंट किया। हालांकि मोदी समय समय पर मंदिरों में जाते रहते हैं, लेकिन कुछ लोग कृष्ण मंदिर की पूजा अर्चना को केरल की राजनीति स्थिति से भी जोड़ रहे हैं। लोकसभा चुनाव में करेल से भाजपा को एक भी सीट नहीं मिली, जबकि कांग्रेस के 17 में 16 उम्मीदवार जीत गए। बताया जाता है कि 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए भी मोदी ने पूजा अर्चना की है। राजनीतिक कयास अपनी जगह है, लेकिन केरल का यह कृष्ण मंदिर ऐसा है, जहां सिर्फ हिन्दू धर्म को मानने वाले ही पूजा अर्चना कर सकते हैं। 8 जून को प्रधानमंत्री ने भी मंदिर की परंपराओं का निर्वाह किया। मोदी ने परंपरागत धोती, कमीज पहनी और गले में गमछा डाला। प्रधानमंत्री ने सनातन संस्कृति को प्रदर्शित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। माना जाता है कि मंदिर की स्थापना पांच हजार वर्ष पहले हुई थी। यहां भगवान कृष्ण की बाल अवस्था की प्रतिमा है। प्रतिमा में कृष्ण के चार हाथ दिखाए गए हैं।  मंदिर परिसर क्षेत्र को दक्षिण भारत की द्वारका भी कहा जाता है।
तिरुपति भी जाएंगे:
तय कार्यक्रम के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी 9 जून को तिरुपति बालाजी के मंदिर भी जाएंगे। 8 जून को केरल में पूजा अर्चना करने के बाद मोदी दिल्ली से मालद्वीप के लिए रवाना हो गए। दोबारा प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी की यह पहली विदेश यात्रा है। 9 जून को मोदी श्रीलंका के दौरे पर रहेंगे। यानि विदेश यात्रा पर रवाना होने से पहले कृष्ण मंदिर में और वापस आने पर तिरुपति मंदिर में पूजा अर्चना करेंगे।

एस.पी.मित्तल) (08-06-19)

Newsview.in - Hindi News.