X Close
X

तो नेताओं ने बिगाड़ रखे थे कश्मीर के हालात।


Ajmer:

तो नेताओं ने बिगाड़ रखे थे कश्मीर के हालात।
अमरीका के बाद अब चीन बेवकूफ बना रहा है पाकिस्तान को।
रूस की दो टूक। जम्मू में मुस्लिम गुर्जरों ने जश्न मनाया।

============

10 अगस्त को केन्द्र शासित जम्मू कश्मीर में हालात सामान्य रहे। प्रदेश के 10 जिलों से धारा 144 हटा ली गई है। लोग अपने घरों से निकल बाजार में खरीददारी कर रहे हैं। यदि हालात इसी तरह रहे तो इंटरनेट सेवाएं भी बहाल कर दी जाएगी। 12 अगस्त को ईद का पर्व देखते हुए प्रशासन और राहत देने जा रहा है। अनुच्छेद 370 में बदलाव के बाद 5 अगस्त से ही जम्मू कश्मीर में पाबंदिया लगाई गई थीं, लेकिन छह दिन गुजर जाने के बाद भी किसी भी स्थान से गड़बड़ी की खबरें नहीं आई हैं। इससे प्रतीत होता है कि जब तक कश्मीर में राजनेताओं ने ही हालातों को बिगाड़ रखा था। कश्मीर के युवाओं को आजादी का ख्वाब दिखा, नेता अपने स्वार्थ पूरे कर रहे थे। बेवजह पाकिस्तान की दखलंदाजी करवाई जा रही थी। ऐसा माहौल बनाया गया कि पाकिस्तान के बगैर कश्मीर में शांति हो ही नहीं सकती है। लेकिन अनुच्छेद 370 में बदलाव कर जम्मू कश्मीर को केन्द्र शासित प्रदेश बनाते ही एक झटके में 70 वर्ष पुरानी समस्या का समाधान हो गया। चूंकि महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला जैसे नेता गिरफ्तार हैं, इसलिए कश्मीर घाटी में भड़काने वाला कोई नहीं है। पाकिस्तान के इशारे पर घाटी में हंगामा करने वाले युवकों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। अब आम कश्मीरी बड़े सुकून के साथ रह रहा है। 9 अगस्त को घाटी की अधिकांश मस्जिदों में जुम्मे की नमाज हुई तो अब 12 अगस्त को ईद को लेकर उत्साह और उमंग है। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा है कि हालात सामान्य करने में कश्मीर के लोगों का सहयोग जरूरी है।
अब चीन बना रहा है बेवकूफ:
अनुच्छेद 370 में बदलाव होने से कश्मीर में जो शांति कायम हुई है उससे घबरा कर पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह कुरैशी चीन पहुंच गए हैं। कुरैशी ने कहा है कि जम्मू कश्मीर में पुरानी स्थिति बहाल करवाने में चीन को भारत पर दबाव डालना चाहिए। कुरैशी के आग्रह पर चीन ने बयान जारी कर कहा है कि कश्मीर का विवाद भारत और पाकिस्तान को मिलकर सुलझाना चाहिए। चीन का यह बयान पाकिस्तान को बेवकूफ बनाने के लिए है क्योंकि अनुच्छेद 370 की वजह से ही तो विवाद था। वैसे भी चीन हांगकांग में जो एकतरफा कार्यवाही कर रहा है उसकी दुनियाभर में आलोचना हो रही है। जब चीन स्वयं दुनिया की परवाह नहीं कर रहा है तो फिर भारत, चीन की परवाह क्यों करेगा? पाकिस्तान को यह भी समझना चाहिए कि प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात के समय भी अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी बेवकूफ ही बनाया था। भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लेकर मध्यस्थता की बात कह कर ट्रंप ने इमरान को बेवकूफ ही बनाया। ट्रंप के इस बयान के बाद ही तो 370 में बदलाव किया गया। वहीं रूस ने दो टूक कहा है कि भारत अपनी सुरक्षा के लिए फैसला करने में स्वतंत्र है।
जम्मू में गुर्जरों का जश्न:
अनुच्छे 370 बदलाव के बाद 10 अगस्त को जम्मू में मुस्लिम गुर्जर समुदाय के लोगों ने जश्न मनाया। तिरंगा हाथ में लेकर समुदाय के लोगों ने कहा कि अब तक हम अपने अधिकारों से वंचित थे। लेकिन अब हमें अपने अधिकार मिलेंगे। सही मायने में जम्मू कश्मीर की आजादी अब हुई है।

एस.पी.मित्तल) (10-08-19)

Newsview.in - Hindi News.