X Close
X

भारत को MOD-4 तोप देगा अमेरिका, नौसेना की मारक क्षमता में होगा और इजाफा


0-363
अमेरिका ने भारत को एक अरब डॉलर यानी करीब 7,100 करोड़ रुपये की नौसैनिक तोपें बेचने का फैसला लिया है। इन तोपों के मिलने से भारतीय नौसेना की मारक क्षमता में उल्लेखनीय इजाफा होगा। बता दें कि बीते तीन साल में भारत ने करीब 5.67 अरब डॉलर के रक्षा समझौते किए हैं। लोकसभा में रक्षा राज्यमंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि दोनों देशों के बीच 21 रक्षा सौदे हुए हैं।

अमेरिका की रक्षा सुरक्षा सहयोग एजेंसी ने मंगलवार को वॉशिंगटन में जारी अपनी अधिसूचना में कहा कि 13एमके-45 पांच इंच/62 कैलिबर (एमओडी-4) नौसैनिक तोपों और उनसे संबंधित उपकरणों की प्रस्तावित विदेशी सैन्य बिक्री की अनुमानित लागत 1.0210 अरब डॉलर है।

इन तोपों का इस्तेमाल युद्धपोतों तथा युद्धक विमानों के खिलाफ और तटों पर बमबारी के लिए किया जाता है। अधिसूचना के मुताबिक, इन तोपों का निर्माण बीएई सिस्टम्स लैंड एंड आर्मामेंट्स द्वारा किया जाएगा और प्रस्तावित बिक्री से भारत की क्षमता में इजाफा होगा और भारतीय नौसेना मौजूदा एवं भविष्य के खतरों से बेहतर ढंग से निपटने में सक्षम होगी।

भारत और अमेरिका के बीच बीते 3 साल में साढ़े 5 अरब डॉलर से ज्यादा के 21 रक्षा सौदे हो चुके हैं. अमेरिका ने अभी तक सिर्फ ऑस्ट्रेलिया, जापान, दक्षिण कोरिया और थाइलैंड को ही ये तोपें बेची हैं. भविष्य में समंदर के रास्ते हमले और आतंकी साज़िशों का खतरा देखते हुए भारतीय नेवी को लंबे समय से इन तोपों की जरूरत थी.

रक्षा सुरक्षा सहयोग एजेंसी ने मंगलवार को जारी अपनी अधिसूचना में कहा कि 13 एमके-45 पांच इंच/ 62 कैलिबर (एमओडी 4) नौसैनिक तोपों और उनसे संबंधित उपकरणों की प्रस्तावित विदेशी सैन्य बिक्री की अनुमानित लागत 1.0210 अरब डॉलर है.

अधिसूचना में कहा गया है कि बीएई सिस्टम्स लैंड एंड आर्मामेंट्स द्वारा बनाए जाने वाले इन हथियारों की प्रस्तावित बिक्री से भारत को दुश्मनों के हथियारों से मौजूदा और भविष्य के जोखिमों से निपटने में मदद मिलेगी. (NEWSVIEW MEDIA NETWORK)