X Close
X

मनोहर परिकर के बेटे उत्पल भाजपा से निराश, कहा…!


Utpal-Parrikar
Ajmer:पणजी. गोवा में कांग्रेस के 10 विधायकों के भाजपा में शामिल होने की बात पर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और दिवंगत भाजपा नेता मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल ने अपनी राय दी। उन्होंने न्यूज एजेंसी से कहा- भाजपा ने कांग्रेस में फूट डाल दी। बागी विधायकों को अपनी पार्टी में शामिल कर लिया। 17 मार्च को मेरे पिता की मृत्यु के बाद भाजपा ने विश्वासमत हासिल करने की राह छोड़ एक अलग ही रास्ता चुन लिया है। उत्पल ने बताया- मेरे पिता किसी नतीजे की परवाह किए बिना पार्टी कैडर के बीच विश्वास बहाल करने को लेकर प्रतिबद्ध थे। उन्होंने अपनी राजनीति में जो विश्वास का रास्ता स्थापित किया था, वह 17 मार्च को समाप्त हो गया। उनकी मृत्यु के बाद पणजी की खाली हुई सीट पर मई में होने वाले उपचुनाव में मुझे उम्मीदवार बनाए जाने की सूचना दी गई थी। मगर बाद में पार्टी ने सिद्धार्थ कुंकालीनकर को टिकट दिया। इस घटनाक्रम पर निराशा जाहिर करते हुए उत्पल ने कहा कि जो कुछ भी हुआ है, वह निश्चित रूप से उनके पिता जो रास्ता अपनाते उससे बिल्कुल अलग है। उत्पल ने गुरुवार को कहा, ‘‘इस साल 17 मार्च को मेरे पिता का निधन हुआ और मैं जानता था कि उनके जाने के बाद उस रास्ते का भी अंत हो गया। हालांकि गोवावासियों को कल इस बारे में पता चल गया।’’ मनोहर परिकर के निधन के बाद उत्पल विधानसभा उपचुनाव में अपनी पिता की सीट से भाजपा की टिकट के दावेदार थे हालांकि भाजपा ने उनके पिता की सीट से उन्हें नहीं उतारा था। उत्पल ने कहा कि उनके पिता के निधन के बाद गोवा भाजपा अब नई दिशा में मुड़ चुकी है। सिर्फ समय ही बताएगा कि वह सही पथ पर है या नहीं। बुधवार को गोवा में विधानसभा में विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावलेकर के नेतृत्व में कांग्रेस के 15 में से 10 विधायक पार्टी से अलग होकर भाजपा में शामिल हो गये, जिससे 40 सदस्यीय विधानसभा में अब सत्तारूढ़ पार्टी की संख्या बढ़कर 27 हो गयी है। हालांकि, उत्पल भाजपा का साथ नहीं छोड़ने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह भाजपा में ही बने रहेंगे और पार्टी कार्यकर्ताओं का समर्थन करेंगे। गोवा भाजपा के पूर्व प्रमुख राजेंद्र आर्लेकर ने भी कहा कि राज्य में मौजूदा राजनीति घटनाक्रम से वह भी व्यथित हैं। पणजी उपचुनाव में भाजपा उम्मीदवार सिद्धार्थ कुनकोलिंकर को हराने वाले अतानासियो मोंसेराटे के भाजपा में शामिल होने पर भी कुछ पार्टी नेताओं ने नाराजगी जताई, जिन पर 2016 में एक नाबालिग का यौन शोषण करने का आरोप है। Newsview.in - Hindi News.