X Close
X

स्वर्गीय राजेश पायलट की पुण्य तिथि पर एकत्रित हुए राजस्थान भर के कांग्रेसी और सरकार के मंत्री।


11_junSM_2019_002-300x232
11 जून को राजस्थान के दौसा के भडाना गांव में पूर्व केन्द्रीय मंत्री स्वर्गीय राजेश पायलट की 19वीं पुण्य तिथि पर सर्वधर्म सभा का आयोजन किया गया। 19 वर्ष पहले इसी जगह पर राजेश पायलट की एक सड़क दुर्घटना में मृत्यु हुई थी। सभा में स्वर्गीय पायलट के पुत्र और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डिप्टी सीएम सचिन पायलट मौजूद रहे, इसलिए प्रदेशभर के कांगे्रस कार्यकर्ता और करीब दस से भी ज्यादा मंत्रियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई।

मंत्रियों में परसाादीलाल मीणा, रघु शर्मा, गोविंद सिंह डोटासरा, ममता भूपेश, भंवरलाल मेघवाल, प्रताप सिंह खाचरियावास आदि के साथ-साथ प्रदेशभर के कांग्रेस जिलाध्यक्ष एवं प्रदेश स्तरीय नेता उपस्थित रहे। स्वर्गीय पायलट का कम उम्र में ही निधन हो गया। लेकिन 55 वर्ष के जीवनकाल में संघर्ष से गुजरते हुए राजेश पायलट ने राजनीति में शीर्ष का मुकाम हासिल किया। पिता के निधन के बाद ही सचिन पायलट राजनीति में आए और आज पायलट भी राजनीति के शिखर पर है। केन्द्रीय मंत्री रहने के बाद सचिन इस समय राज्य सरकार में डिप्टी सीएम हैं और प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भी हैं। सचिन की मुख्यमंत्री के पद पर मजबूत दावेदारी अब भी बनी हुई है।

11 जून को भी भडाना में स्वर्गीय राजेश पायलट की पुण्य तिथि पर हुई सर्वधर्म सभा में मंत्रियों एवं बड़े नेताओं की उपस्थिति बताती है कि राजस्थान की राजनीति में सचिन का दबदबा कायम है। भले ही लोकसभा के चुनाव में कांग्रेस 25 सीटें हार गई हो, लेकिन पायलट के दबदबे में कोई कमी नहीं आई है। यह बात अलग है कि जालौर-सिरोही के दौरे में पायलट ने एक दिन पहले ही कहा है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को सरकार और संगठन में बदलाव करने का पूरा हक है। राहुल जो भी बदलाव करेंगे, वह उन्हें स्वीकार होगा। उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव में मिली हार से राहुल गांधी बेहद आहात हैं और उन्होंने अध्यक्ष पद से इस्तीफा भी दे दिया है। फिलहाल राहुल किसी भी नेता ने नहीं मिल रहे हैं।

लेकिन मौजूदा परिस्थितियों में राहुल से मुलाकात करने में सचिन को भी सफलता नहीं मिली है।अजमेर में नहीं जुटे कांगेसी: सचिन पायलट को शक्ल दिखाने के लिए कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय जैन, देहात अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह राठौड़, हरिसिंह गुर्जर, प्रदेश सचिव महेन्द्र सिंह रलावता, हेमंत भाट जैसे नेता दौसा तक पहुंच गए, लेकिन अजमेर में रखे गए श्रद्धांजलि कार्यक्रम में मुश्किल से 20-25 कार्यकर्ता ही जुटे। जबकि शहर कांग्रेस कमेटी से कोई दो सौ कार्यकर्ता सीधे जुड़े हुए हैं। स्वर्गीय राजेश पायलट को श्रद्धांजलि देने के लिए बाबू मोहल्ला स्थित कार्यालय में 11 जून की सुबह कार्यक्रम रखा गया था।

शहरध्यक्ष विजय जैन भी दौसा जाने की वजह से उपस्थित नहीं रहे। ऐसे में डॉ. गोपाल बाहेती, विष्णु माथुर, रश्मि ङ्क्षहगोरानी, नीरज यादव, प्रताप यादव, कुलदीप कपूर, शिवकुमार बंसल, सबा खान, अशोक बिंदल, नरेश सत्यावना आदि ने ही चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की।   (NEWSVIEW MEDIA NETWORK)